कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक आईपीओ: जानिए इश्यू के बारे में विवरण

कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक ने अपने आईपीओ (Initial Public Offering) के जरिए 523 करोड़ रुपये जुटाने की योजना बनाई है। यह बैंक अपने आईपीओ को बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) पर लिस्ट करना चाहती है। इसकी संभावित लिस्टिंग तारीख 14 फरवरी 2024 के रूप में तय की गई है।

इस आईपीओ के लिए, कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक ने 445-468 रुपये प्रति शेयर का प्राइस बैंड तय किया है। यह प्राइस बैंड आईपीओ में शेयरों की कीमत को निर्धारित करने के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा, आईपीओ में शेयरों की मात्रा और अन्य विवरणों को भी तय किया जाता है।

कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक आईपीओ के माध्यम से वित्तीय बाजार से और निवेशकों से धन जुटाने का उद्देश्य रखती है। यह बैंक अपने ग्राहकों को विभिन्न वित्तीय सेवाएं प्रदान करती है, जैसे कि बचत खाता, ऋण, इंश्योरेंस, और डिपॉजिट खाता। इसके साथ ही, यह एक स्मॉल फाइनेंस बैंक के रूप में विशेषज्ञता रखती है और छोटे और मध्यम व्यापारों को वित्तीय सहायता प्रदान करती है।

इश्यू के जरिए पूंजी जुटाने के बाद, कैपिटल स्मॉल फाइनेंस बैंक अपने वित्तीय स्थिति को मजबूत करने और अधिक वित्तीय सेवाओं को प्रदान करने की क्षमता में सुधार कर सकेगी। यह आईपीओ निवेशकों के लिए एक बढ़िया मौका हो सकता है जो इस बैंक के साथ जुड़ने के इरादे रखते हैं।

इस आईपीओ के बारे में अधिक जानकारी के लिए, आप बैंक की आधिकारिक वेबसाइट पर जांच कर सकते हैं।

 

You May Also Like

Ram Mandir Inauguration: 22 जनवरी को मंदिर में ‘प्राण प्रतिष्ठा’ के लिए अयोध्या को सजाया जा रहा है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इसमें शामिल होंगे। सूत्रों की मानें, तो मंदिर ट्रस्ट श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र की आमंत्रित लिस्ट में 7,000 से ज्यादा लोग हैं। उन्होंने बताया कि इनमें क्रिकेट के दिग्गज सचिन तेंदुलकर और विराट कोहली, बॉलीवुड सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और अरबपति उद्योगपति मुकेश अंबानी और गौतम अडानी शामिल हैं

More From Author

वेदांता (Vedanta) के शेयरों में खरीदारी का अच्छा रुझान दिख रहा है। इसकी वजह ये है कि वैश्विक ब्रोकरेज फर्म CLSA ने इसकी रेटिंग को अपग्रेड किया है। पहले ब्रोकरेज ने इसे सेल रेटिंग दी थी लेकिन अब इसे अंडरपरफॉर्म रेटिंग दी है। इसका टारगेट प्राइस भी बढ़ा दिया है लेकिन यह टारगेट अभी भी मौजूदा लेवल से काफी नीचे है’s post

हाल में Amazon, Meta और Walmart के फाउंडर्स और प्रमोटर्स ने अपने शेयर बेचे हैं। इंडिया में भी कंपनियों के प्रमोटर्स ने 2023 में करीब 1.5 लाख करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं। मार्केट के कुछ जानकारों का मानना है कि इसकी वजह शेयरों की ज्यादा वैल्यूएशन हो सकती है’s post

+ There are no comments

Add yours